[uttarkashi] - दावानल बुझाने को डीएम भी उतरे जंगल में

  |   Uttarkashinews

उत्तरकाशी। गर्मी बढ़ने के साथ ही जिले के जंगलों में आग लगने की घटनाएं शुरू हो गई हैं। हालांकि वन विभाग जंगलों की आग को लेकर पूरी तरह मुस्तैद है और आग लगने की सूचना मिलते ही इस पर नियंत्रण किया जा रहा है। शनिवार को यमुनोत्री धाम से लौट रहे डीएम डा. आशीष चौहान ने चिन्यालीसौड़ के निकट जंगल में आग लगी देखी, तो उन्होंने अपनी टीम के साथ स्वयं आग पर काबू कर वनों के प्रति संवेदनशीलता का परिचय दिया।

चीड़ बहुल होने के कारण जिले के जंगलों पर दावानल का खतरा मंडरा रहा है। इस खतरे को देखते हुए वन विभाग ने फायर सीजन के लिए पूरी तैयारियां की हुई हैं। तीन माह पूर्व कंट्रोल बर्निंग कर चीड़ वनों में गिरी पत्तियों को जलाकर जंगलों को आग से बचाने के इंतजाम किए गए थे। अब गर्मी बढ़ने पर जंगलों में आग लगने की घटनाएं शुरू हो गई हैं। शनिवार को चिन्यालीसौड़ के निकट जंगलों में अचानक आग लग गई। इस दौरान यमुनोत्री धाम से यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेकर लौट रहे डीएम डा. आशीष चौहान ने मौके पर रुककर वन विभाग को तत्काल इसकी सूचना देने के साथ ही स्वयं भी जंगल में उतरकर आग पर काबू पाने में योगदान दिया। डीएम और उनके साथ चल रहे कर्मचारियों ने झाड़ियों की मदद से भारी मशक्कत कर आग पर काबू पा लिया। रविवार को ज्ञानसू के ऊपरी हिस्से में वरुणावत पर्वत के एक हिस्से में जंगल में आग लग गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने आग पर काबू पाया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/uUUc4gAA

📲 Get Uttarkashi News on Whatsapp 💬