इस भाजपा नेता की जीत से खुश है कांग्रेस, अब बच सकती है एमपी सरकार !

  |   Bhopalnews

भोपाल. कहते हैं सियासत में हार और जीत दोनों के ही मायने होते हैं। मध्यप्रदेश में कांग्रेस की करारी हार हुई है। इस हार पर मंथन जारी है। प्रदेश की 29 सीटों में से कांग्रेस को एक सीट मिली है। कांग्रेस के लिए ये प्रदर्शन बेहद निराशाजनक है। लेकिन भाजपा की 28 सीटों में से एक ऐसी सीट है जहां जीती भाजपा पर पर इसका सीधा फायदा कांग्रेस को मिल सकता है। ये सीट है रतलाम-झाबुआ संसदीय सीट।

कैसे हो सकता है कांग्रेस को फायदा

मध्य प्रदेश के झाबुआ-रतलाम संसदीय सीट से बीजेपी के जीएस डामोर चुनाव जीते हैं। डोमार झाबुआ विधानसभा से विधायक भी हैं। डामोर को अब विधायक या सांसद में से कोई एक पद छोड़ना पड़ेगा। अगर डामोर विधायक पद से इस्तीफा देते हैं तो विधानसभा में भाजपा विधायकों की संख्या 108 हो जाएगी। जबकि प्रदेश की कुल विधायकों की संख्या 229 का हो जाएगी जबकि (कुल 230 सीटे हैं)। इस्तीफा देने के बाद छह महीने के अंदर उपचुनाव होगा। अत: छह महीने तक भाजपा के विधायकों की संख्या 108 ही रहेगी। छह महीने बाद होने वाले उपचुनाव में अगर कांग्रेस की जीत होती है तो कांग्रेस के विधायकों की संख्या 115 हो जाएगी जबकि भाजपा के विधायकों की संख्या 108 हो जाएगी। वहीं, अगर इस सीट के उपचुनाव में भाजपा फिर से जीतती है तो भी कांग्रेस के 114 विधायक ही रहेंगे।...

फोटो - http://v.duta.us/eJYjCAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/muLnEAAA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬