आस्था के संगम संग समुद्र के हिलोरे

  |   Satnanews

सतना. समुद्र तट की सैर करना, खूबसूरत नजारे देखना, ऊंची लंबी लहरों के बीच में नहाने का एक अद्भत ही अहसास होता है और एेसा समुद्र तट जहां भगवान का स्थल हो तब तो बात ही कुछ और होती है। शायद यही वजह है कि शहर के लोगों को जब कभी किसी समुद्र तट पर जाना होता है तब वह ज्यादातर धार्मिक स्थलों को पसंद करते हैं। मतलब साफ है आस्था के संगम पर लोग समुद्र के हिलकोरे का आनंद उठाना बेहद पसंद करते हैं। आज वर्ल्ड ओसियन डे हैं। पत्रिका टीम ने शहरवासियों से जब पूछा कि वह किस समुद्र तट पर जाना पसंद करते हैं और क्यों तो ज्यादातर लोगों ने कहा कि जिस समुद्र तट के किनारे धर्मिक स्थल होता है ज्यादातर वही जाना पसंद करते हैं। जबकि यंग कपल और युवाओं ने मुंबई, गोवा जाना पसंद करते हैं। उड़ीसा और तामिलनाडू में स्थित समुद्री तट फेवरेट शहर के 60 प्रतिशत लोग परिवार के साथ उड़ीसा और तामिलनाडु स्थित समुद्र तट लोगों को बेहद पसंद हैं। धवारी में रहने वाली उमा मिश्रा कहती हैं कि उन्हें और उनके परिवार को समुद्र तट की सैर करना बेहद पसंद है, लेकिन ज्यादातर वे उन्हीं समुद्री तट स्थल पर जाती हैं जहां धार्मिक स्थल भी हो। जिससे अलग अलग जगह के प्रसिद्ध भगवान के दर्शन भी हो सके और घूमना भी हो सके। शहर के टूर एंड ट्रैवल कि सीमा सिद्दकी क हती हैं कि हर साल शहर से हजारों परिवार उड़ीसा और तामिलनाडू, गुजरात, केरल का ट्रिप बुक कराते हैं जिससे आस्था भी पूरी हो जाए और समुद्र की सैर भी हो जाए।...

फोटो - http://v.duta.us/cXZo7gAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/YHVj7wAA

📲 Get Satna News on Whatsapp 💬