गौमाता के लिए गौशाला बनाने खोजे नहीं मिल रही जमीन, शहर से दस किलोमीटर दूर जमीन का हो रहा चयन

  |   Shahdolnews

शहडोल। सरकार की गौशाला खोलने की योजना छह महीने बाद भी मूर्त रूप नहीं ले सकी है। सरकार के आदेश के साथ ही प्रशासनिक अमला जमीन खोजने में जुटा हुआ है। लेकिन गौशाला खोलने जमीन की छानवीन अब तक पूरी तरह नहीं हुई है। जिले के पांचों जनपदो में चार-चार गौशला खेलने का निर्णय लिया गया था। लेकिन जमीन खोजने में प्रशासन हाथ खड़ा कर रहा है। जिसके चलते गौ-शाला खोलने की योजना को दो चरणों में बांट दिया गया है। अब जिले के पांचों जनपदो में दो-दो गौ-शाला खोलने की तैयारी की जा रही है। जिसमे सोहागपुर जनपद में दस किलोमीटर दूर सोन नदी के किनारे रोहनिया और दूसरी कंकाली माता के पास पड़मनिया कला में जमीन का चयन किया गया है। लेकिन जमीन के छानबीन के लिए प्रस्ताव राजस्व विभाग को भेजा गया है। पड़मनिया कला की जमीन की तस्वीर अब तक साफ नही हो पाई है। यहां तहसीलदार से जमीन की हरी झंडी मिलने के बाद ही गौ-शाला निर्माण का कार्य शुरू हो सकेगा। सोहागपुर जनपद में प्रस्तावित दोनो गौशला संभागीय मुख्यालय से दस किलो मीटर दूर है। जबकि सबसे अधिक आवारा जानवर शहर में विचरण करते है। जिसके चलते रोज दुर्घटनाए हो रही है। लेकिन संभागीय मुख्यालय के नजदीक एक भी गौशाला खोलने का प्रस्ताव नहीं है।...

फोटो - http://v.duta.us/q72ezAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/zNPb4wAA

📲 Get Shahdol News on Whatsapp 💬