जानिए 900 साल पुरानी बारसूर पत्थर से बनी प्राचीन प्रतिमाएं आखिर क्यों हो रही खंडित

  |   Balodnews

बालोद @ patrika. इस बारिश में फिर घिसेगी बारसूर पत्थर से बनी प्राचीन प्रतिमाएं। इस संग्रहालय को संरक्षित करने जिला प्रशासन और पुरातत्व विभाग ध्यान नहीं दे रहा है। नतीजा यह है कि प्राचीन प्रतिमा अब अपनी अस्तित्व खोती जा रही है। प्रदेश का पहला खुला संग्रहालय भगवान भरोसे है। इनकी पूछ परख और सुध लेने वाला कोई नहीं है। प्राचीन प्रतिमाओं में तो अब आसामाजिक तत्वों और युवाओं ने प्रेमी-प्रेमिकाओं के नाम उकेर दिए है। संग्रहालय व कपिलेशवर में रखी कुछ मूर्तियों पर जब बारिश की बूंदे गिरती है तो मूर्ति से पत्थर के कण रेत के रूप में क्षरण होता है।...

फोटो - http://v.duta.us/dH-UGAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/RSLLlAAA

📲 Get Balodnews on Whatsapp 💬