जवाबदेही से नहीं बच सकेंगे एसडीएम

  |   Jabalpurnews

जबलपुर. मझौली और सिहोरा तहसील भी अब ऑनलाइन वीडियों कान्फ्रेसिंग सिस्टम से जुड़ गई है। जिला ई- गवर्नेंस कार्यालय ने इस काम को पूरा कर लिया है। इस व्यवस्था से सभी तहसील मुख्यालयों में बैठे अधिकारियों से कलेक्टर सीधे संवाद कर सकेंगे। ऐसे में इन तहसीलों के अधिकारियों को कलेक्टर कार्यालय नहीं आना पडेग़ा। यह व्यवस्था तीन जून से शुरू हुई, लेकिन दो तहसीलों में काम पूरा नहीं हो सका था।

कलेक्टर कार्यालय में महीने के प्रत्येक सोमवार को समय सीमा समीक्षा बैठक होती है। इसमें सभी विभागों के कामों की समीक्षा होती है। कितने काम पूरे हुए कितने अधूरे हैं। यही नहीं पिछली बैठक में हुए निर्णय और दिए गए निर्देशों का पालन किस स्तर तक किया गया, इन तमाम बातों पर चर्चा होती है। इसमें जिले के लगभग सभी विभागों के अधिकारी या उनके प्रतिनिधि मौजूद रहते हैं। लेकिन मुख्यालय से दूरी होने के कारण तहसील के अधिकारी कई बार बैठक में नहीं पहुंच पाते। अगर अधिकारी मौजूद हैं तो ठीक नहीं तो किसी भी कलेक्टर का वहां के अधिकारियों से बैठक के समय संपर्क नहीं हो पाता।...

फोटो - http://v.duta.us/V6NkkQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/2z7fSwAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬