ट्रक चालक पिता ने लोन लेकर बेटी को दिलाया धनुष, बनी इंटरनेशनल तीरंदाज

  |   Hisarnews

हिसार। तीरंदाजी सबसे महंगा खेल है। इस खेल को चुनने के लिए खिलाड़ियों को काफी सोचना पड़ता है। मगर परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने के बावजूद भी गांव उमरा की बेटी संगीता मलिक ने हौसला नहीं टूटने दिया और तीरंदाजी क्षेत्र में आगे बढ़ने की ठान ली।

तीरंदाजी के प्रति उसका इतना जुनून बढ़ता चला गया कि पिता राजेश ने लोन लेकर बेटी को 3 लाख रुपये का धनुष खरीदकर दिया। आज वह धनुष से निशाना साध कर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना नाम चमका रही है। संगीता की दो बहनें और एक भाई है।

तीन साल से सरकार से नहीं मिला कैश अवॉर्ड...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/cMgeMQAA

📲 Get Hisar News on Whatsapp 💬