‘योग से तन-मन रहता है शांतचित्त’

  |   Nagaurnews

लाडनूं. प्राच्यविद्या एवं जैन संस्कृति संरक्षण संस्थान लाडनूं व मदनलाल भंवरीदेवी आर्य मेमोरियल स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय व्यक्तित्व विकास एवं योग प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन मदनलाल भंवरीदेवी आर्य मेमोरियल स्कूल में वरिष्ठ साहित्यकार रामकुमार तिवाड़ी की अध्यक्षता में कार्यशाला का शुभारंभ हुआ। मुख्य अतिथि खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी लाडनूं डॉ. मूलचंद चौधरी, विशिष्ट अतिथि सरपंच संघ अध्यक्ष एडवोकेट हरदयाल रुलानिया व जैन विश्व भारती संस्थान के सहायक आचार्य योग प्रशिक्षक डॉ. अशोक भास्कर थे। शुभारंभ अतिथियों ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से किया। मंगलाचरण वैशाली जैन ने किया व स्वागत वक्तत्वय दीक्षान्त हिन्दुस्तानी ने प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि डॉ. चौधरी ने कहा व्यक्ति को शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग करना बहुत जरूरी है, जिससे व्यक्ति का तन व मन शांत रहता है। एडवोकेट हरदयाल रुलानिया ने कहा योग के बिना जीवन अधूरा है, योग से दैनिक क्रियाएं व्यवस्थित रहती है। अध्यक्षता करते हुए रामकुमार तिवाड़ी ने कहा शरीर के दुखों को दूर करने वाला योग ही है, जिससे व्यक्ति की सभी बीमारियों का नाश होता है। योग प्रशिक्षक डॉ. अशोक भास्कर ने कहा योग व्यक्ति के जीवन जीने की शैली है , जिसको निरन्तर करने से व्यक्ति हमेशा स्वस्थ व शक्तिशाली बना रहता है। योग शिविर कार्यशाला में डॉ. अशोक भास्कर ने योग प्रणायाम, प्रेक्षाध्यान,ताड़ासन सहित विभिन्न आसन, योग क्रियाएं करवाई तथा इससे होने वाले लाभ की जानकारी प्रदान की संचालन डॉ मनीषा जैन व आभार ज्ञापन जगदीश यायावर ने किया। शिविर में डॉ. मनीषा जैन , सुमित्रा आर्य, परवीना भाटी, कंचनलता आर्य,जीतमल टाक,बजरंगलाल जेठू, शरद जैन आदि मौजूद थे।

फोटो - http://v.duta.us/XbbiwAEA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/YEYrkwAA

📲 Get Nagaur News on Whatsapp 💬