शिक्षा व्यवस्था के स्तर में गिरावट पर जताई चिंता

  |   Haridwarnews

ब्यूरो/अमर उजाला, हरिद्वार

उत्तर प्रदेश के राजकीय शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने वर्तमान शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि शिक्षण कार्य के अलावा अन्य विभागों के कार्य लिए जाने और बिगड़ी हुई शिक्षा व्यवस्था के कारण शिक्षा के स्तर में लगातार गिरावट आ रही है। इसके लिए राजकीय शिक्षकों को दोषी ठहराया जाता है। जबकि राजकीय शिक्षक पूर्ण निष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करते हैं। प्रदेश से आए प्रांतीय, मंडलीय, जनपदीय पदाधिकारियों ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार पर चिंतन किया।

खड़खड़ी स्थित चेतन ज्योति आश्रम में रविवार को राजकीय शिक्षक संघ उत्तर प्रदेश के राज्य स्तरीय ग्रीष्मकालीन दो दिवसीय चिंतन शिविर और शैक्षिक संगोष्ठी का शुभारंभ किया गया। मुख्य अतिथि प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष दिनेश शर्मा ने कहा कि शासन आज भी शिक्षा के प्रति गंभीर नहीं है। जो कार्य शासन को करना चाहिए, उसके लिए राजकीय शिक्षक संघ चिंतन कर रहा है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुनील भड़ाना ने कहा कि राजकीय विद्यालयों की विभिन्न समस्याओं का समाधान तलाशने के लिए हरिद्वार में चिंतन शिविर करने को मजबूर हुए। शिक्षकों की कमी से विषयवार बच्चों को पढ़ाना मुश्किल हो रहा है। संचालन प्रांतीय प्रवक्ता डॉ. नारायण शरण ने किया।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/NT-9mAAA

📲 Get Haridwar News on Whatsapp 💬