श्रद्घालुओं की भीड़ देख ज्वालामुखी में हांफी व्यवस्थाएं

  |   Kangranews

ज्वालाजी में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, व्यवस्थाएं हांफीं

रविवार को 30 हजार श्रद्धालुओं ने किए पवित्र ज्योतियों के दर्शन

भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस, सुरक्षा कर्मियों को करनी पड़ी मशक्कत

विभु शर्मा

ज्वालामुखी (कांगड़ा)। शक्तिपीठ ज्वालामुखी में वीकेंड पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण मंदिर प्रशासन की व्यवस्थाएं भी कम पड़ गईं। रविवार को बाहरी राज्यों के लगभग 30 हजार श्रद्धालु मां ज्वाला के दर्शनों को पहुंचे। श्रद्घालुओं का अचानक सैलाब उमड़ने से सारी व्यवस्था हांफ गईं।

मंदिर के मुख्य गेट पर श्रद्धालुओं का हजूम था, इसे नियंत्रित करने के लिए पुलिस और सुरक्षा कर्मियों को खूब पसीना बहाना पड़ा। चिलचिलाती धूप में यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। मंदिर के मुख्य गेट से नीचे काफी लंबी लाइनें लगी थी, जहां पीने के पानी का कोई इंतजाम नजर नहीं आया। वहीं, दूसरी ओर श्रद्धालु भरी धूप में नंगे फर्श पर चलते नजर आए। हालांकि मंदिर में तो मैट बिछे हैं, पर श्रद्धालुओं की तादाद इतनी ज्यादा थी कि लंबी-लंबी लाइनें लग गईं, जिस वजह से सारे इंतजाम छोटे पड़ गए। वहीं श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण शहर में ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई। बस स्टैंड से बोहन चौक और नादौन मार्ग पर सैकड़ों गाड़ियां कछुआ चाल से चलती रहीं। वहीं शनिवार और रविवार को भी बिजली के अघोषित कटों का सिलसिला जारी रहा और पानी की समस्या से स्थानीय लोगों से लेकर श्रद्धालु भी जूझते नजर आए। ज्वालामुखी शहर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण सफाई व्यवस्था भी चरमराती नजर आई। जगह-जगह कूड़े के ढेर देखने को मिले। ज्वालामुखी मंदिर को जाने वाले पुराने मार्ग पर ऑटो का जमावड़ा रहा, जिस वजह से कई गाड़ियां घंटों वहां फंसी रहीं। मंदिर मार्ग नंबर एक पर वाहनों की आवाजाही पर कोई रोक नहीं लगी है। धड़ल्ले से वीआईपी गाड़ियों की आवाजाही हो रही है। इस बारे में थाना प्रभारी पुरुषोत्तम धीमान का कहना है कि इन दिनों छुट्टियों में शहर में बढ़ता हुआ ट्रैफिक समस्या का विषय है। फिर भी ट्रैफिक कर्मी भरसक प्रयास कर रहे हैं कि जाम की स्थिति से निजात दिलवाई जाए।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/wYyRlQAA

📲 Get Kangra News on Whatsapp 💬