शिविर में जो कुछ सीखा, उसे जीवन में उतारने की जरूरत

  |   Alwarnews

समापन अवसर पर सतपाल महाराज की शिष्या साध्वी चंदनबाई मौजूद थी।

इस अवसर पर साध्वी चंदनबाई ने कहा कि शिविर में जिन बच्चोंं ने भाग लिया है वे शिविर में दी गई प्रेरणाओं को अपने जीवन में उतारें और जो कुछ सीखा है उसे अपने जीवन का अंग बनाएं। उन्होंने शिविरार्थियों को सुबह उठते ही प्रभु का स्मरण करने, अपने माता-पिता के चरण स्पर्श कर उनका आशीर्वाद लेने की शपथ दिलाई। शिविर में भाग लेने वाले करीब 250 बच्चों की आयोजित प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को पुरस्कृत किया गया। समिति के सचिव ललित बेनीवाल ने बताया कि इस मौके पर एक ऐसे छात्र का भी माला पहनाकर सम्मान किया गया जिसने नीट में उच्च अंक प्राप्त किए हैं। सम्मानित होने वाले छात्र शुभम खण्डेलवाल ने शिविरार्थी बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में शिक्षा तभी प्राप्त होती है जब हम लग्न के साथ पढ़ाई करेंगे। ऐसा करने पर हमें हर कदम पर सफलता मिलती जाएगी। समिति के अध्यक्ष मोहन लाल खण्डेलवाल ने बताया कि शिविर में 8 से 15 साल तक बच्चों को खेलकूद, आर्ट एण्ड क्रॉफ्ट, पेन्टिंग भी सिखाई गई। इसके अलावा योगा, मेडिटेशन, ध्यान-साधना, पूजा-पाठ, सेवा भक्ति की प्रेरणा भी दी गई। इस मौके पर पूजा बाई, प्रज्ञा बाई, गीता बाई आदि साध्वियां भी मौजूद रही। कार्यक्रम में विष्णु गुप्ता, संदीप लखेरा, हेमन्त भाई, राहुल, ज्योति बहिन, कनक,पुनित भाई, महिमा, नीतेश, सुनेना, हिमांशु, खुशी,रोहित, सोनू, यशिका,भारत आदि मौजूद रहे।

फोटो - http://v.duta.us/Qb55pgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/V4Z7IwAA

📲 Get Alwar News on Whatsapp 💬