10 बाल श्रमिकों को मुक्त कराने में विफल रही कौआकोल पुलिस

  |   Nawadanews

कौआकोल : नौकरी का झांसा देकर कौआकोल थाना इलाके के विभिन्न गांवों के रहनेवाले 10 बाल श्रमिकों को अबतक दलाल के चंगुल से मुक्त नहीं कराया जा सका है. इससे इन बच्चों के परिजन काफी आशंकित हैं. इसी मामले में कौआकोल थाने के बीझो गांव की रहनेवाली कपूरवा देवी ने स्थानीय थाने में नालंदा के रहनेवाले एक दलाल के विरुद्ध चार फरवरी को प्राथमिकी दर्ज करायी थी.

इसमें उन्होंने दलाल के विरुद्ध आरोप लगाया था कि उनके बच्चों को नौकरी दिलाने के नाम पर बहला-फुसला कर जयपुर स्थित चूड़ी फैक्टरी में काम कराने के ले गया है. थाने में दिये गये आवेदन में बताया गया था कि नालंदा जिले के राजगीर थाने के विस्थापित निवासी अरविंद चौधरी ने जुलाई 2018 में ही कौआकोल थाने के बीझो गांव से कपूरवा देवी के पुत्र सहित छह बच्चों और तरौन गांव से चार बच्चों को बहला-फुसला कर जयपुर चूड़ी फैक्टरी में ले जाया गया है....

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/nbrAsAAA

📲 Get Nawada News on Whatsapp 💬