48 वर्ष पहले कांता स्वरूप ने रक्त की बताई थी अहमियत : रिटायर्ड कर्नल

  |   Ambalanews

अंबाला कैंट। रक्त की एक-एक बूंद कीमती है और यह रक्त बहुमूल्य जीवन को बचा सकता है। आज से करीब 48 वर्ष पहले एक युवा को रक्त की अहमियत बताकर उसे रक्तदान के लिए प्रेरित करने वाली महिला पद्मश्री से सम्मानित कांता स्वरूप कृष्ण (90) को सेना से कर्नल रिटायर्ड आरडी सिंह ने सम्मान दिया है। उन्होंने रक्तदान पर अपने संपूर्ण जीवन के घटनाक्रमों पर आधारित एक किताब उन्हें सम्मान स्वरूप भेंट की। कर्नल सिंह ने परिवार सहित कांता स्वरूप के चंडीगढ़ स्थित आवास पर उन्हें यह सम्मान भेंट किया। कैंट की डिफेंस कॉलोनी निवासी कर्नल आरडी सिंह इस समय भी ब्लड बैंक सोसायटी चंडीगढ़ का हिस्सा हैं। कांता स्वरूप के 1971 में डीएवी कॉलेज में दिए लेक्चर से प्रभावित होकर उन्होंने रक्तदान शुरू किया था। वह अपने जीवन में अब तक 102 बार रक्तदान कर चुके हैं जबकि उनकी पत्नी मधु सिंह 30 बार, बेटी अनुष्का 20 बार और उनका दामाद मेजर अंकित सिंह आठ बार रक्तदान कर चुके हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/f5xIqwAA

📲 Get Ambala News on Whatsapp 💬