आपदा प्रबंधन: सरकारें 22 साल बाद भी नहीं खड़ी कर सकीं सुरक्षा दीवार, बाढ़ आयी तो फिर डूब जाएंगे 125 गांव

  |   Rewanews

रीवा. एमपी-यूपी सीमावर्ती क्षेत्र में बारिश का मौसम आते ही सवा सौ गांवों के लोग बाढ़ के डर से सहम जाते हैं। परेशान करने करने वाली बात यह कि सरकारें बाढ़ से निपटने के लिए २२ साल बाद भी बेलन और टमस नदियों पर सुरक्षा दीवार (बांध) नहीं बना सकीं। बारिश शुरू होते ही दो राज्यों के बार्डर पर सवा सौ गांव में बाढ़ का भय सताने लगता है। फौरीतौर पर बाढ़ से निपटने के लिए हर साल दोनों राज्यों के अफसर बैठकें कर रहे हैं। लेकिन, बाढ़ की विभीषिका को लेकर स्थाई हल नहीं निकाला गया।

एमपी-यूपी बार्डर पर 125 गांव में हर साल आती है बाढ़...

फोटो - http://v.duta.us/N7Z3gQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/_hA9yAAA

📲 Get Rewa News on Whatsapp 💬