इन्हें नहीं खनिज विभाग की कार्रवाई का डर, नदी के किनारे रेत का अवैध भंडारण

  |   Chhindwaranews

छिंदवाड़ा. मानसून अवधि में प्रशासनिक प्रतिबंध के बावजूद कुलबेहरा से लेकर कन्हान और पेंच नदी के गांव-गांव बने तट पर इस समय रेत का अवैध भंडारण जमा हो रहा है। छुटभैय्ये से लेकर बड़े सफेदपोश तक इस गोरखधंधा में लिप्त हैं। रात के अंधेरे में ट्रैक्टर-ट्रॉली से लेकर डम्पर की पदचाप सुनाई दे रही है। सीएम के जिले में कहो तो जगह-जगह समानांतर सत्ता चल रही है। इन रेत भंडारण को जब्त करने में प्रशासनिक कार्रवाई सीमित नजर आ रही है। रेत के स्टॉक के नाम पर पेंच नदी के तट खासकर चौरई-चांद का इलाका इस समय सुर्खियों में बना हुआ है। पेंच नेशनल पार्क के बफर जोन के कोना पिंडरई, सिरस से लेकर मोआरी घाट, पाल्हरी बंदी, झिरिया केरिया, कौआखेड़ा, लोनीबर्रा, झिलमिली और खर्राघाट से रेत रात के अंधेरे में चौरई और छिंदवाड़ा पहुंच रही है।...

फोटो - http://v.duta.us/AFXG4AAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/UdmLJgAA

📲 Get Chhindwara News on Whatsapp 💬