इस बीमारी से सिकुड़ रहे बच्चों के पैर, माता-पिता परेशान

  |   Chhatarpurnews

छतरपुर . बच्चों के जन्म लेने के बाद उनके पैरों में क्लब फुट नाम की एक बीमारी हो जाती है जिसके चलते बच्चों के पैर भीतर की तरफ मुड़े हुए एवं सिकुड़े हुए हो जाते हैं। यदि शुरूआत में इस बीमारी पर ध्यान नहीं दिया गया तो बच्चों के बड़े होने पर हड्डियां खुद को उसी अनुरूप ढाल लेती हैं और लोग ढेड़े, मेड़े चलने लगते हैं। बुन्देलखण्ड में काफी बच्चों में यह लक्षण देखे जा रहे हैं जिसके चलते सरकार ने फिजियोथैरेपी के माध्यम से इस बीमारी से छुटकारा दिलाने के लिए एक अभियान चलाया है।

जिला अस्पताल में पदस्थ फिजियोथैरेपिस्ट डॉ. नेहा श्रीवास्तव ने बताया कि प्रत्येक तीन महीने में भोपाल की एक संस्था क्योर इंटरनेशनल फाउण्डेशन एवं शासन की ओर से ऐसे बच्चों की निगरानी की जा रही है। जो बच्चे शुरूआत में ही अस्पताल पहुंचते हैं उन्हें मालिश, 10 दिन के तक के प्लास्टर के माध्यम से ठीक किया जा सकता है लेकिन जो बच्चे इस बीमारी के होने के काफी दिन बाद अस्पताल पहुंचते हैं उन्हें फिजियोथैरेपी एक्सरसाइज के साथ-साथ कई बार सर्जरी से भी गुजरना पड़ता है। शनिवार को जिला अस्पताल में बच्चों के लिए विशेष जूते वितरित किए गए। जिनका उपचार तीन माह पहले फिजियोथैरेपी से किया जा चुका है। इन जूतों के कारण बच्चों को चलने में दिक्कत नहीं होती।

फोटो - http://v.duta.us/XHHrygAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/agr3VAAA

📲 Get Chhatarpur News on Whatsapp 💬