इस मामले में तीन दिन से शांत पुलिस अचानक हुई सक्रिय, पांच को किया गिरफ्तार

  |   Ujjainnews

नागदा. प्रॉपटी विवाद में व्यापारी को चाकू मारने की घटना को तीन दिन बीतने के बाद पुलिस प्रशासन जागा है। यदि समय रहते पुलिस अपना सख्त रवैया अपना लेती तो शुक्रवार देर शहर के हालात नहीं बिगड़ते। पुलिस की सुस्त कार्यप्रणााली के चलते शहरवासियों को फिजा बिगाडऩे वाले युवकों का दंश झेलना पड़ा। शुक्रवार देर रात पाड़ल्या रोड़ पर हुए गदर के बाद पुलिस ने सख्ती बरतते हुए शनिवार को 5 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करते हुए जेल भेजा है। उसके बाद शहर में शांति का माहौल देखा गया।

व्यापारी प्रेम राजावत पर हुए हमले को लेकर पुलिस की सुस्त कार्यप्रणाली के चलते दो पक्षों का विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा। हालात उस वक्त बिगड़ गए जब हिंदू संगठन के कार्यकर्ता प्रकाश नगर निवासी अनिल व्यास अपने साथी गौरव शर्मा के साथ जन्मेजय मार्ग में पहुंचा तो उनके साथ वर्ग विशेष के लोगों द्वारा मारपीट की खबर शहर में फैली। उसके कुछ देर बाद ही पाड़ल्या रोड पर हिंदू संगठन के लोग एकत्रित होकर वर्ग विशेष के खिलाफ नारेबाजी करते हुए उनके क्षेत्र में घुसने का प्रयास करने लगे तो दोनों में पक्षों में विवाद हो गया। स्थिति यह बनी की दोनों तरफ से पथराव हुए। इसी बात का फायदा उठाकर कुछ लोगों ने 15 से अधिक चौपहिया वाहनों के कांच भी फोड़ दिए। इसमें नपाध्यक्ष की गाड़ी को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। हालांकि घटना के कुछ देर बाद ही पुलिस बल पहुंच गया था, लेकिन हिंदू संगठनों के आक्रोश के आगे पुलिस कुछ नहीं कर सकी। जब ज्यादा हालात बिगडऩे लगे तो पुलिस ने अपना सख्त रवैया अपना लिया। उत्पाद मचाने वाले युवकों को जब पुलिस ने खदेडऩा शुरू किया तो मामला शांत हो गया। पूरे घटना क्रम के बाद पुलिस ने उन लोगों के नामों की सूची तैयार की जो लोग उत्पाद में शामिल थे। शनिवार को उन लोगों के खिलाफ कायमी की गई।...

फोटो - http://v.duta.us/Iw9ozQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/OlA6ewAA

📲 Get Ujjain News on Whatsapp 💬