एमबीबीएस कोर्स पर छाई महंगाई , कॉलेजों में अब इतने लाख देकर कर सकेंगे पढ़ाई

  |   Bilaspur-Chattisgarhnews

बिलासपुर। एक ओर सरकार ने प्रदेश के पांच शासकीय मेडिकल कॉलेज में इडब्ल्यूएस कोटे के तहत 120 सीट बढ़ाकर आवेदकों और उनके पालकों को राहत दी है तो दूसरी ओर निजी मेडिकल कॉलेज में फीस वृद्धि के प्रस्ताव को अनुमति दे दी गई है। ऐसे में इस वर्ष से निजी मेडिकल कॉलेज पिछली फीस की तुलना में लगभग 2 लाख 43 हजार रुपए ज्यादा वसूलेंगे। ये फीस कॉलेज के ग्रेड के हिसाब से थोड़ा बहुत ऊपर नीचे हो सकता है। हॉस्टल और मेस की फीस भी पिछले स्ट्रक्चर की तुलना में 75 हजार के आसपास बढ़ा दी गई है।

बढ़ी हुई फीस के दायरे में ट्यूशन फीस, क्लिीनिकल एवं ट्रांसपोर्टेशन, हास्टल व मेस, एडमिशन फार्म, गणवेश, परिचयपत्र, लाइब्रेरी आदि शामिल हैं। यदि कुछ नहीं बढ़ा है तो वो कॉशन मनी है जिसे पिछले फीस रिविजन के तहत ही रखा गया है। एक कॉलेज के नए फीस स्ट्रक्चर के हिसाब से इस वर्ष पिछली फीस सात लाख तीस हजार की तुलना में नौ लाख 73 हजार क आसपास प्रतिवर्ष अदा करना होगा। इस फीस स्ट्रक्चर का निर्धारण तीन वर्ष के लिए होता है। पिछली बार रिविजन 2016 में हुआ था। 2019 का रिविजन सत्र 2021-22 के लिए होगा।...

फोटो - http://v.duta.us/UB9y2AAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/bKKyxQAA

📲 Get Bilaspur-Chattisgarhnews on Whatsapp 💬