चार सालों🗓 में बढ़ा लिंगानुपात🙍

  |   Hindielections / समाचार

देश में 2015-16 की तुलना में जन्म के साथ अखिल भारतीय लिंगानुपात (एसआरबी) यानी प्रति एक हजार पुरुषों की तुलना में लड़कियों की संख्या में वृद्धि हुई है। इस साल मार्च महीने तक 1000 पुरुषों की तुलना में लड़कियों की संख्या बढ़कर 931 हो गई है।

वहीं केरल और छत्तीसगढ़ में यह संख्या प्रति एक हजार पुरुषों की तुलना में 959 है। 958 के साथ दूसरा नंबर मिजोरम और 954 के साथ तीसरा नंबर गोवा का है। इस सूची में 900 के साथ पंजाब, 889 के साथ दमन और दीव और 891 के साथ लक्ष्यद्वीप का नंबर आता है।

2015-16 में प्रति हजार पुरुषों की तुलना में लड़कियों की संख्या 926 थी और 2017-18 के दौरान यह संख्या 929 था। यह आंकड़े महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने संसद में पूछे गए एक सवाल के जवाब में बताए। 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में 2017-18 के दौरान एसआरबी में वृद्धि हुई है। सबसे ज्यादा वृद्धि अंडमान और निकोबार में दिखाई दी। यहां पहले प्रति हजार पुरुषों की तुलना में 897 लड़कियां थी जो अब 948 हो गया है।

यहां पढ़ें खबर- http://v.duta.us/Zmd5DQAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬