यूपी: इमरजेंसी से एनआरसी वार्ड की दौड़ में गई बच्चे की जान, डॉक्टरों ने इलाज के लिए नहीं लगाया हाथ

  |   Farrukhabadnews

बीमारी से बच्चों की मौत को लेकर पूरे देश के लोगों में गुस्सा है। इसके बाद भी डॉक्टर संवेदनशील नहीं हैं। इसी का नतीजा है कि लोहिया अस्पताल में इमरजेंसी और एनआरसी वार्ड के चक्कर लगाने में एक मासूम बच्चे की जान चली गई। किसी भी डाक्टर ने इलाज के नाम पर बच्चे को हाथ तक नहीं लगाया।

मसेनी स्थित एसआर कोल्ड स्टोरेज के मिकट निवासी पप्पू अपनी पत्नी मीना के साथ चाढ़े माह के कुपोषित बेटे को गंभीर हालत में लेकर रविवार सुबह दस बजे लोहिया अस्पताल पहुंचे। नाजुक हालत में उसे एनआरसी (न्यूट्रिशन रिहैबिलिटेशन सेंटर) वार्ड ले गए। वहां मौजूद डा. विवेक सक्सेना ने बच्चे की हालत गंभीर होने पर उसे इमरजेंसी भेज दिया। इस पर पप्पू बच्चे को इमरजेंसी ले गए।...

फोटो - http://v.duta.us/JNP5pwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/DRXOoQAA

📲 Get Farrukhabad News on Whatsapp 💬