विदेशी सिगरेट का अवैध कारोबार: न प्रिंट रेट, न ही वॉर्निंग, सप्लाई के नियम भी धुआं-धुआं

  |   Dehradunnews

हर गली-मोहल्ले की छोटी से छोटी पान की दुकान पर विदेशी ब्रांड। न कोई प्रिंट रेट और न ही सरकार के नियम के हिसाब से पैकेट पर कोई वॉर्निंग। सिगरेट का यह काला धंधा दून में चरम पर है। स्टॉक में करोड़ों की अवैध सिगरेट इकट्ठा हो चुकी हैं। प्रिंट न होने की वजह से टैक्स का भी सवाल नहीं। संबंधित विभाग खामोश हैं। इस धीमे जहर की युवाओं तक सीधे सप्लाई हो रही है।

यह विदेशी ब्रांड सबसे ज्यादा चलन में

डेविड ऑफ , गुडंग गरम, एसेस लाइट्स, स्लिम्स मूड्स, जरूम ब्लैक, डनहिल स्विच, पाइन, एस और मॉन्ड ब्रांड।

यह है नियम...

फोटो - http://v.duta.us/4gwBngAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/t0esAQAA

📲 Get Dehradun News on Whatsapp 💬