हम्मालों ने समाप्त की हड़ताल, सोमवार से शुरू होगी मंडी में नीलामी

  |   Sagarnews

सागर. हम्मालों द्वारा मजदूरी की दरें बढ़ाने को लेकर एक सप्ताह तक कृषि उपज मंडी बंद रहने से क्या नुकसान हुआ है इसका अंदाजा लगाना भी मुश्किल है, लेकिन मंडी बोर्ड के अनुमानित आंकड़ों के हिसाब से देखें तो इस एक सप्ताह 1000 करोड़ का व्यापार प्रभावित होने का अनुमान लगाया जा रहा है। यह स्थिति सप्ताह के सात दिन की नहीं बल्कि उन पांच दिनों की है जिनमें मंडी में नीलाकी प्रक्रिया जारी रहती है। इतना ही नहीं यदि इसका नुकसान उन 250 परिवारों को भी हुआ है जो मंडी में हम्माली का काम

करते हैं।

मंडी बोर्ड से मिली अनुमानित जानकारी के अनुसार हिसाब लगाएं तो मंडी में प्रतिदिन कम से कम 200 वाहनों से करीब 4 हजार क्विंटल उपज की खरीदी की जाती है। इसमें गेहूं, चना, मसूर से लेकर अन्य प्रकार की उपज भी शामिल होती हैं। यदि अनुमान के अनुसार एक प्रति क्विंटल 2500 रुपए का औसत निकालें तो 4 हजार क्विंटल की कीमत २०० करोड़ रुपए होती है। इस हिसाब से मंडी में हड़ताल चलने के कारण हर रोज करीब 200 करोड़ का व्यापार प्रभावित हुआ है।...

फोटो - http://v.duta.us/8FM7XQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xbNMCgAA

📲 Get Sagar News on Whatsapp 💬