अपडेट-------------बदायूं में कूड़ेदानों की खरीद में पकड़ा गया 51 लाख का घोटाला

  |   Budaunnews

बदायूं। पूरे देश में स्वच्छता अभियान चल रहा है। गांव-गांव स्वच्छता की अलख जगाकर लोगों को सफाई के प्रति जागरूक किया जा रहा है। सड़कों पर गंदगी न हो, इसके लिए ग्राम पंचायतों में कूड़ेदान की खरीदारी कराई गई थी, जो अब गांव से ही गायब हो गए हैं। ऐसे में गांव वाले सड़क किनारे कूड़ा फेंकने को मजबूर हैं। इससे गांव में गंदगी बढ़ती जा रही है। हालात ये हैं कि डस्टबिन अब मंत्री और अधिकारियों के पहुंचने पर ही गांव में नजर आते हैं और केवल चंद घंटों के लिए ही गांव में सफाई दिखाई देती है।

शहरों की तर्ज पर गांव मेें साफ-सफाई बनी रहे। इसके लिए शासन ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए थे कि गांव में सफाई व्यवस्था को चाक चौबंद कराए। इसी क्रम में डीएम की ओर से व्यापक स्तर पर श्रमदान कर सफाई अभियान चलवाया गया, जिसमेें स्वयं डीएम ने गांव में जाकर श्रमदान किया था। साथ ही गांव में डस्टबिन खरीदने के निर्देश दिए थे ताकि सड़क पर गंदगी न नजर आए। इसके बाद कई ग्राम पंचायतों की ओर से डस्टबिन खरीदे गए। इनको कुछ दिनों के लिए सड़क पर रखा गया, लेकिन अब हालत यह हो गई है गांव से ये डस्टबिन ग्रामीणों की नजर से ओझल होने लगे हैं। ये डस्टबिन केवल मंत्री और अधिकारियों के गांव पहुंचने पर ही दिखाई देते हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/IkqacwAA

📲 Get Budaun News on Whatsapp 💬