अस्त हुए मंगल: किन के लिए रहेंगे शुभ और किसके लिए अशुभ! जानें अपना हाल

  |   Bhopalnews

भोपाल। पराक्रम के कारक ग्रह मंगल , 11 जुलाई की मध्य रात्रि को अस्त हो गए। यह 23 अक्टूबर को सुबह 06:36 मिनट पर पूर्व में उदय होंगे।

जानकारों के अनुसार जब कोई ग्रह सूर्य के अति करीब हो जाता है तब वह अस्त कहलाता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार मंगल क्रूर ग्रह है, अतः इसके अस्त होने से दुष्प्रभाव में वृद्धि होगी। लेकिन यह भी नहीं है की सभी पर इनका प्रभाव होगा ही है। यदि आपकी मंगल की प्रत्यंतर दशा चल रही है तो आपको इसकी अधिक अनुभूति होने की सम्भावना है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार विक्रम संवत् 2076 में पृथ्वी पुत्र मंगल का अस्त होना बड़ी ज्योतिषीय घटना है। और इस बार/वर्ष मंगल दस पदाधिकारियों में से तीन पद पर ( धनेश : कोष के स्वामी,नीरशेष : धातुओं के स्वामी और शश्येष : चौमासा फसलों के स्वामी) विराजमान हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/MuPKVwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/mE9tPAAA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬