आजम खां के विरोधी और समर्थक आए आमने-सामने

  |   Rampurnews

रामपुर। सांसद आजम खां के खिलाफ धरना देने के बाद आजम विरोधी नेता और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए। दोनों तरफ से एक दूसरे के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की गई। इस बीच पुलिस ने जैसे-तैसे स्थिति को संभाला। बाद में एसडीएम सदर, सीओ स्वार समेत बड़ी तादाद में पुलिस फोर्स पहुंच गई, जहां दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर शांत किया।

शनिवार को आजम विरोधी नेताओं ने ग्राम आलियागंज में धरना दिया था। धरना देने वाले लोग दोपहर के वक्त जौहर यूनिवर्सिटी के गेट के सामने एसडीएम सदर को ज्ञापन सौंपना चाहते थे। धरना खत्म होने के बाद वह लोग जौहर यूनिवर्सिटी के गेट की ओर बढ़ गए। इस बीच समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता भी स्वार-टांडा विधायक अब्दुल्ला आजम खां के नेतृत्व में यूनिवर्सिटी के बाहर गेट पर आ गए और मानव श्रृंखला बनाकर पूरा गेट घेर लिया। दोनों पक्षों को आमने-सामने आते देख वहां मौजूद पुलिस कर्मियों के हाथ पैर फूल गए। एक तरफ से आजम खां की गिरफ्तारी की मांग की जा रही थी, तो दूसरी तरफ से शिक्षा के दुश्मन हाय हाय के नारे लगाए जा रहे थे। इस बीच पुलिस कर्मियों ने आजम विरोधी नेताओं को यूनिवर्सिटी के गेट से पहले ही रोक दिया। उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी गई। करीब एक घंटे तक दोनों तरफ से नारेबाजी होती रही। स्थिति बेहद तनावपूर्ण हो गई थी। एसडीएम सदर पीपी तिवारी, सीओ स्वार ओपी आर्य पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। इस बीच पुलिस ने सपाइयों को शांत किया। विधायक अब्दुल्ला आजम खां ने कहा कि बिना अनुुमति के धरना-प्रदर्शन कैसे किया गया। उन्होंने रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की मांग की। उधर, एसडीएम सदर ज्ञापन लेने चले गए। इसके बाद हालात काबू में हुए। इस दौरान क्षेत्र में अफरातफरी का माहौल रहा। इस मौके पर सपा की ओर से पूर्व विधायक विजय सिंह, जिलाध्यक्ष अखिलेश कुमार, जिला सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन सलीम कासिम, नगर अध्यक्ष आसिम राजा, ओमेंद्र सिंह चौहान, फरहान खां, फिरोज, गुड्डू मसूद, मुमताज फूल, विक्की राज, अनवार, आकिब खां सहित अन्य कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/i1eGFAAA

📲 Get Rampur News on Whatsapp 💬