मरीज को डिस्चार्ज करने के मामले में डॉक्टर को नोटिस 23-16-31

  |   Budaunnews

बदायूं। जिला अस्पताल के वर्न वार्ड से मरीज को जबरिया डिस्चार्ज करने के मामले में प्रभारी सीएमएस ने डॉक्टर को नोटिस दिया है। उनसे स्पष्टीकरण मांगा गया है कि आखिर उन्होंने मरीज को क्यों बाहर निकाला और उसके साथ दुर्व्यवहार क्यों किया।

शाहजहांपुर में कलान थाना क्षेत्र के ग्राम गोकिल नगला निवासी सिपाही लाल और उनकी पत्नी ने जिला अस्पताल के डॉ. रिशिम अग्रवाल पर उनके बेटे को जबरिया डिस्चार्ज करने का आरोप लगाया था। सिपाही लाल ने बताया था 19 जून को उनकी पत्नी घर में खाना बना रही थी। उसी समय किसी तरह उनके सात वर्षीय बेटे दिव्यांशु पर गर्म तेल गिर गया, जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गया। उसके बाद परिवार वाले दिव्यांशु को लेकर जिला अस्पताल आए और उन्होंने अस्पताल में भर्ती करा दिया। इस मामले को डॉ. रिशिम अग्रवाल देख रहे थे। दिव्यांशु वर्न वार्ड में भर्ती था। दंपती ने आरोप लगाया था कि शुक्रवार को डॉ. अग्रवाल वर्न वार्ड पहुंचे। उन्होंने उनके बेटे को जबरदस्ती डिस्चार्ज कर दिया। उन्होंने कहा कि अभी तो बच्चे का जख्म भी ठीक नहीं हुआ है। तो क्यों डिस्चार्ज किया जा रहा है। इस पर न सिर्फ डॉक्टर ने उन्हें वार्ड से जबरिया बाहर निकाल दिया। बल्कि उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया गया।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/GJ4FqAAA

📲 Get Budaun News on Whatsapp 💬