मर रही है हिमाचल की जलाल नदी, लगातार घट रहा है जलस्तर

  |   Himachal-Pradeshnews

सिरमौर जिले की प्रसिद्धि धार्मिक नदी गिरी की सहायक जलाल नदी के घटते जलस्तर के कारण इसके अस्तित्व पर सवालिया निशान लगा रहे हैं. बता दें कि जलाल नदी सिरमौर की प्रसिद्ध नदियों में से एक है. जलाल नदी का उद्गम पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के जयहर, मढ़ीघाट से है. इस नदी में क्षेत्र के कई छोटे-छोटे नाले और प्राकृतिक जल स्त्रोत का पानी मिलता है. जलाल नदी अपने उद्गम से बागथन, महिपुर ,खादरी होते हुए दादाहु में गिरी नदी में मिलती है.

जलाल नदी का है धार्मिक इतिहास

सिरमौर की प्रसिद्ध जलाल नदी का अपना धार्मिक इतिहास भी है. बता दें कि जलाल नदी का नाम पहले सूरजमुखी नदी हुआ करता था. मान्यता है कि सतयुग काल में भगवान परशुराम ने सहस्त्रबाहु का वध करने के बाद खून से रंगा हुआ अपना परसा इस नदी में धोया था. जिस कारण इस नदी के पानी का रंग लाल हो गया था. उसी दिन से इस नदी का नाम जलाल पड़ गया. जलाल नदी का सफर पच्छाद विधानसभा क्षेत्र से शुरू होता है. प्राकृतिक जल स्त्रोतों और नालों से मिलकर बनती है यह नदी...

फोटो - http://v.duta.us/vQTI2gAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/F-BPvAAA

📲 Get himachal-pradeshnews on Whatsapp 💬