समय से पहले ही जीवन दायिनी का गागर सूखा, नपा को कराने पड़े ये जतन

  |   Shajapurnews

शाजापुर. इस बार मानसून ने सही समय पर दस्तक दे दी, नहीं तो चीलर बांध के सूखते पानी से शहरवासी को प्यासा रहना पड़ता है। समय से पहले चीलर बांध का पानी खत्म होने की स्थिति को देखते हुए नगर पालिका ने शहर में ४० लाख रुपए की लागत से बोरवेल खनन का कार्य शुरू किया है। करीब एक माह में अनेक वार्डों में खनन किया गया है, जहां पानी की टंकी लगाकर क्षेत्रवासियों को जलप्रदाय किया जाएगा।

इस बार चीलर बांध में १६ फीट पानी जमा हो गया था। इसके बाद रबी फसल के लिए जल उपयोगिता समिति की मांग में किसानों को सिंचाई के लिए एक बार दोनों नहरों से ४० दिन तक पानी छोड़ा गया। इसके बाद दिसंबर माह में शहर में पेयजल के लिए साढ़े ६ फीट पानी शेष रखा था। इस ६ फीट पानी से पूरे साल जलप्रदाय किया जाना था। लेकिन यह तीन माह में ही खत्म हो गया। मार्च में ही डेड स्टोरेज से पानी लिफ्टिंग किया जाने लगा। इस दौरान जमकर चीलर बांध से पानी चोरी किया गया, लेकिन जिम्मेदारों ने कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की। इससे बारिश आते-आते चीलर बांध का पानी पूरी तरह सूखने लगा और पानी डेड स्टोरेज के ६ फीट नीचे तक पहुंच गया। ऐसे में शहर की पेयजल समस्या को देखते हुए है नगर पालिका ने प्रत्येक वार्ड में बोरवेल खनन का कार्य किया जा रहा है। जिससे चीलर बांध सूखने की स्थिति में शहरवासियों को पेयजल के लिए भटकना न पड़े।...

फोटो - http://v.duta.us/6nznsgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/TufgWwAA

📲 Get Shajapur News on Whatsapp 💬