149 वर्षों बाद गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण का दुर्लभ संयोग, दोपहर में बंद हो जाएंगे मंदिर के पट

  |   Bareillynews

16 जुलाई, गुरु पूर्णिमा पर एक बार फिर वैसे ही ग्रह और नक्षत्रों का संयोग बन रहा है जो 149 साल पहले बना था। सालों बाद ग्रह और नक्षत्रों के संयोग को ज्योतिषाचार्य विशेष मान रहे हैं। उन्होंने ग्रहों की स्थिति को तनाव बढ़ाने वाला और प्राकृतिक आपदाओं का कारक बताया है। खंडग्रास चंद्रग्रहण समेत चार विपरीत ग्रहों के मेल का प्रभाव जातकों की राशियों पर भी दिखाई देगा।

ज्योतिषाचार्य पं. विकास उपाध्याय के मुताबिक 149 साल पहले 12 जुलाई 1870 को गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण साथ पड़े थे। उस समय चंद्रमा शनि, राहु और केतु के साथ धनु राशि में था। साथ ही सूर्य और राहु एक साथ मिथुन राशि में प्रवेश कर गए थे। इस बार भी 2019 में यह चंद्र ग्रहण आषाढ़ मास की पूर्णिमा यानी गुरु पूर्णिमा के दिन लगने जा रहा है।...

फोटो - http://v.duta.us/RP7QQAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/_JfZswAA

📲 Get Bareilly News on Whatsapp 💬