VIDEO ये क्या वर्दी का रौब दिखाकर ठगे लाखों,पोल खुली तो पुलिस की गिरफ्त में आ गया

  |   Dharnews

धामनोद.धार विकास पटेल

नगर के समीप चौधरी ढाबे पर करीब पूर्व लोकसभा चुनाव के समय अपने आपको आईपीएस अधिकारी बताकर एक अधिकारी ढाबे पर पहुंचा। ढाबे के संचालक अनूप जाट से कहा मैं आईपीएस अधिकारी हूं। मेरी सीएम प्रोटोकोल इंदौर में ड्यूटी लगी है कुछ देर रुक कर चले जाऊंगा । जिस पर पुलिस वाला समझ कर ढाबे वाले ने भरोसा कर आईपीएस अधिकारी बने हुए व्यक्ति की भरपूर सेवा चाकरी की। भरोसा होने पर होटल संचालक से नकदी व सोने की चेन हथिया ली।

दोबारा पहुंचा ठगी की नीयत से

करीब दो माह बाद गंगा दशमी के अवसर पर पुन:व्यक्ति ढाबे पर पहुंचा तथा बताया की आज यहां से गुजरना हो रहा था तो मुझे शराब चाहिए तब ढाबे संचालक ने शराब देने से इनकार किया तो ड्राइवर के माध्यम से शराब बुलाकर पी। इसी दौरान ढाबा संचालक अनूप जाट से कहा कि मैं एक गौशाला के लिए बहुत बड़ा दान करने वाला हूं तथा दान करने के लिए अपने साथ लाए करीब 15 लाख रुपए भी दिखाएं तथा संचालक अनूप जाट व मैनेजर को वशीकरण कर एक एक सोने की चेन तथा 30 हजार गौशाला के नाम से ले गया । गौशाला के लिए अन्य कार्यों को करूंगा ऐसा कह कर अनूप जाट के एक साथी को भी बड़ौदा तक ले गया । घटना के करीब 2 माह बाद जब व्यक्ति द्वारा चौधरी ढाबे पर सोने की दो तोले की चेन एवं नकदी राशि के लिए पुन: श्याम सुंदर पिता सत्यनारायण शर्मा निवासी ब्यावर जिला अजमेर राजस्थान से लगातार संपर्क किया तो वह टालता रहा । बार.बार फोन करने पर पुन: जब वह चौधरी ढाबे पर शनिवार पहुंचा तो ढाबे संचालक को शंका हुई कि आईपीएस अधिकारी नहीं है एक फर्जी अधिकारी है जिस पर उन्होंने धामनोद पुलिस को सूचना दी। तब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर श्याम प्रसाद शर्मा को गिरफ्तार किया । व्यक्ति के पास आईपीएस अधिकारी होने के दस्तावेज नहीं थे तथा वाहन की जांच करने पर करीब 9 लाख से भी अधिक रुपए केश जब्त हुआ साथ साथ फर्जी दस्तावेज भी पुलिस को मिले।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Zj5FAgAA

📲 Get Dhar News on Whatsapp 💬