आखिर पार्षदों ने क्यों कर दिया आयुक्त का घेराव, फिर क्या बोले आयुक्त

  |   Chittorgarhnews

चित्तौडग़ढ़

नगर परिषद चित्तौडग़ढ़ के भाजपा पार्षदों ने बुधवार को शहर के विकास के मुद्दे को लेकर परिषद आयुक्त का घेराव किया और बाद में उन्हें ज्ञापन सौंपकर विकास कार्यों में भेदभाव बरतने का आरोप लगाया। सात दिन में जनता से जुड़ी समस्याओं का हल नहीं होने पर अनशन और धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी।

भाजपा पार्षद बुधवार को नगर परिषद पहुंचे और वहां आयुक्त नारायणलाल मीणा का घेराव कर नारेबाजी की। बाद में आयुक्त को ज्ञापन सौंपा, जिसमें शहर के विकास को गति दिलाने की मांग की। पार्षदों ने कहा कि नगर के विकास कार्यों को रोक दिया गया है। विकास में राजनीतिक भेदभाव बरता जा रहा है। ज्ञापन में बताया है कि जनता से जुड़े मुद्दों का यदि सात दिन में समाधान नहीं किया गया तो अनशन और धरना प्रदर्शन किया जाएगा। पार्षदों के प्रतिनिधि मंडल ने नगर की चरमराती सफाई व्यवस्था, सीवरेज से बेहाल हुई सड़कों की दुर्दशा, अतिक्रमण व पेयजल को लेकर आ रही समस्याओं के चलते पूर्व में किए जा चुके टेण्डरों के कार्यादेश तुरंत जारी करने की मांग की। पार्षदों ने आरोप लगाया कि राज्य में कांग्रेस शासन आने के बाद वार्डों में विकास कार्यों में भेदभाव किया जा रहा है। भाजपा नित बोर्ड को कमजोर करने के प्रयास किए जा रहे है। कई तकनीकी अधिकारियों के तबादले कर दिए गए है। इस दौरान आयुक्त ने भी परिषद में अधिकारियों और कर्मचारियों की कमी को लेकर प्रतिनिधि मण्डल को सूची सौंपी। आयुक्त का कहना था कि तकनीकी अधिकारियों व कर्मचारियों के पद रिक्त होने से भी समस्याएं आ रही है।...

फोटो - http://v.duta.us/9suQogAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xdgP5AAA

📲 Get Chittorgarh News on Whatsapp 💬