कलश स्थापना के साथ हुआ मंगलाचरण, बालिकाओं ने नृत्य की दी प्रस्तुति

  |   Tikamgarhnews

टीकमगढ़.अतिशय क्षेत्र पपौरा जी में आचार्य भगवन विद्यासागर महाराज की वरिष्ठ शिष्या आर्यिका 105 आदर्श मति माताजी ससंघ 13 पिच्छी का चातुर्मास मंगल कलश स्थापना मंगलवार की सुबह 8.30 की गई। सबसे पहले प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ की नन्ही-नन्ही बच्चियों द्वारा मंगलाचरण किया गया।

प्रदीप जैन ने बताया कि आचार्य भगवन विद्यासागर महाराज की महापूजा 9. 30 पर शुरू हुई। पूजन में जल समर्पित करने का सौभाग्य प्रतिभास्थली की बच्चियों को आचार्यश्री जी को चंदन समर्पित करने का सौभाग्य महिला मंडल टीकमगढ़ को अक्षत समर्पित करने का सौभाग्य पपौरा एवं समीपवर्ती क्षेत्रों के वरिष्ठ पदाधिकारियों को प्राप्त हुआ। पुष्प समर्पित करने का सौभाग्य दुर्लभ मति माताजी के ग्रस्त जीवन के परिवार वालों, नैवेद्य समर्पित करने का सौभाग्य अतिशय क्षेत्र बंधाजी, सिद्धक्षेत्र आहारजी और नवागढ़ कमेटी को प्राप्त हुआ। दीप समर्पित करने के लिए माता जी के परिजन जबलपुर वालों को आमंत्रित किया गया। धूप समर्पित करने के लिए महरौनी, जतारा और पूजन में फ ल समर्पित करने के लिए सभी वर्ग को आमंत्रित किया। इसके बाद कलश स्थापना का कार्यक्रम शुरू हुआ। प्रथम कलश आदिनाथ मंगल कलश को प्राप्त करने का सौभाग्य इंदौर निवासी मुनिश्री आनंद सागर महाराज के गृहस्थ जीवन के भाई रमेश कुमार सिंपल कुमार को प्राप्त हुआ। द्बितीय कुंडलपुर के बड़े बाबा कलश एप्राप्त करने का परम सौभाग्य सचिन जैन, एसके जैन को प्राप्त हुआ।...

फोटो - http://v.duta.us/C47hrAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/jUQchQAA

📲 Get Tikamgarh News on Whatsapp 💬