पुलिस और सेना के 1200 जवान रक्त देकर बचा रहे दूसरों की जिंदगी

  |   Rohtaknews

हरियाणा, दिल्ली, यूपी, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश के पुलिस और सेना में तैनात 1200 से अधिक जवान पिछले चार साल से रक्त देकर लोगों की जान बचाने में जुटे हैं। सोशल मीडिया पर किसी के खून के अभाव में तड़पने की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचकर रक्त देकर बचाते हैं। यही नहीं, ये जवान विभिन्न राज्यों में अब तक एक हजार से अधिक रक्तदान शिविर भी लगवा चुके हैं। प्रत्येक राज्यों में अलग-अलग जवानों को कमान सौंपी गई है।

सीआईए1 के एएसआई सतीश कुमार, हेड कांस्टेबल विवेक कुमार, चरखी दादरी के दिल्ली के कोटला थाने पर तैनात हेड कांस्टेबल अमित फौगाठ और सिसाना गांव के हेड कांस्टेबल आशीष दहिया ने बताया कि करीब चार साल पूर्व ही फेसबुक और व्हाट्सएप पर सभी लोग एक दूसरे के संपर्क में आए। ‘जीवनदायिनी’ नाम से फेसबुक और व्हाट्सएप पर ग्रुप बनाए। इसमें जवान और हरियाणा, यूपी, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के जवान जुड़ते ही चले गए। वर्तमान में इस ग्रुप से 1200 से अधिक जवान जुड़े हुए हैं, जो किसी के भी खून के अभाव में जिंदगी और मौत से जूझने की सूचना पर अधिकारियों से अनुमति लेकर ब्लड देने के लिए पहुंच जाते है। पुलिस और सेना के अधिकारियों के अलावा कई सामाजिक संगठन भी इन जवानों को सम्मानित कर चुके हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/3_kL9AAA

📲 Get Rohtak News on Whatsapp 💬