Death mystery : मौत के सात साल बाद महिला ने कराई रजिस्ट्री, महिला जीवित या मृत, जांच शुरू

  |   Kotanews

सांगोद. कोटा रेतवाली निवासी एक महिला की नौ साल पहले मौत हो गई। मौत के सात साल बाद वो महिला सांगोद तहसील कार्यालय पहुंची और गुडला गांव में अपनी जमीन को दूसरे व्यक्तियों के नाम पंजीयन करा दिया। यह वाक्या चौंकाने वाला हो सकता है, लेकिन सांगोद तहसील कार्यालय में कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है। मामला संज्ञान में आने के बाद बुधवार को कार्यवाहक तहसीलदार नरेन्द्र सिंह हाड़ा ने पुलिस अधिकारियों को पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई के लिए लिखा है।

जानकारी के अनुसार कोटा रेतवाली निवासी बेवा पार्वती बाई की सांगोद तहसील क्षेत्र के गुडला गांव में 4.72 हैक्टेयर जमीन है। 24 मार्च 2017 को एक महिला ने इस जमीन के पंजीयन के लिए आवेदन किया। महिला ने अपना नाम पारवती उर्फ पार्वती बाई बेवा किशना उर्फ किशन लाल गौतम बताया। पंजीयन के दौरान कोटा लाडपुरा निवासी सत्यनारायण ब्राह्मण एवं चम्पालाल ब्राह्मण ने गवाह स्वरूप अपने हस्ताक्षर किए। पंजीयन के कुछ माह बाद परिजन सांगोद पहुंचे और उन्होंने पार्वती देवी पत्नी किशन लाल शर्मा का निधन होना बताते हुए नगर निगम कोटा से 19 जून 2010 को जारी मृत्यु प्रमाण पत्र कार्यालय में सौंपा। शिकायत के बाद से जमीन का इंतकाल तो नहीं खुल पाया, लेकिन मामला सरकारी रिकॉर्ड में अटका रहा।...

फोटो - http://v.duta.us/prJQywAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/zjaJaAAA

📲 Get Kota News on Whatsapp 💬