कैसे पहुंचें बाबाधाम?

  |   Ranchinews

विश्वप्रसिद्ध श्रावणी मेला इस बार कई संयोग लेकर आ रहा है. लगभग सवा सौ साल बाद सावन माह में इस बार 17 जुलाई को पूर्णिमा व संक्रांति तिथि के अनुसार सावन प्रारंभ हो रहा है. इस दिन सूर्य प्रधान उत्तराषाढ़ नक्षत्र से सावन माह की शुरुआत होगी. इस दिन वज्र और विष कुंभ योग का संयोग है. सावन में चार सोमवार पड़ेंगे. इसके अलावा रक्षा बंधन व स्वतंत्रता दिवस भी एक ही दिन होगा.

एक अगस्त को हरियाली अमावस्या पर पंच महायोग का संयोग माना जा रहा है.जानकारों के अनुसार, यह संयोग लगभग सवा सौ साल के बाद बन रहा है. देवघर एक प्रमुख तीर्थ स्थान है, यह झारखण्ड राज्य के संथाल परगना के अंतर्गत है. इस शहर में बाबा बैधनाथ का मंदिर स्थित है जो बारह ज्योतिर्लिंग में से एक है. इस ज्योतिर्लिंग को मनोकामना लिंग भी कहा जाता है। देवघर में प्रयटको के लिए बहुत से आकर्षण केंद्र है : नौलखा मंदिर , बासुकीनाथ , बैजू मंदिर और माँ शीतला मंदिर है. श्रावण मेले में लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं. इस बार आप भी श्रावण में देवघर आने की योजना बना रहे हैं तो पहले आपके यहां तक पहुंचने का रूट समझ लीजिए....

फोटो - http://v.duta.us/cWAMAQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/j9kTEgAA

📲 Get Ranchi News on Whatsapp 💬