गोंड परियोजना में पर्यावरण मंजूरी का कई माह से इंतजार, सिंचाई परियोजना में फंसा पेंच

  |   Singraulinews

सिंगरौली. सिंगरौली व सीधी दो जिलों के लिए सिंचाई की दृष्टि से महत्वपूर्ण गोंड सिंचाई परियोजना की पर्यावरणीय मंजूरी से पहले पेच फंस गया है। दोनों जिलों की 33 हजार हेक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा मुहैया कराने के मकसद से बनी यह बड़ी परियोजना पर्यावरणीय मंजूरी के लिए केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय मेें करीब छह माह से अटकी है। मार्च माह में इसकी पर्यावरणीय मंजूरी को लेकर दिल्ली में पर्यावरण विशेषज्ञों की कमेटी राज्य का सरकारी पक्ष सुन चुकी।

इसके बाद प्रोजेक्ट रिपोर्ट व परियोजना का पर्यावरणीय अध्ययन करने वाली कंपनी व परियोजना ठेकेदार का पक्ष सुने जाने की औपचारिकता होनी है। मगर इससे पहले नया पेच आ गया है। इसके तहत केन्द्रीय वन मंत्रालय ने वर्ष 2017 में परियोजना के सिंचित क्षेत्र में नए जोड़े गए पांच हजार हेक्टेयर क्षेत्र संबंधी अध्ययन रिपोर्ट मांगी है। इस प्रकार अब पर्यावरण मंजूरी प्रक्रिया से पहले इस संंबंध में वहां नई रिपोर्ट देेनी होगी।...

फोटो - http://v.duta.us/pSPzbgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/oWR2agAA

📲 Get Singrauli News on Whatsapp 💬