जल है, तो कल है : जानें क्या कर रहा है झारखंड, कैसे करें वाटर रिचार्ज

  |   Ranchinews

रांची : झारखंड में 1251.2 मिलीमीटर औसतन हर साल बारिश होती है, बावजूद इसके प्रत्येक वर्ष गर्मी के मौसम में यहां जलसंकट नजर आता है. जलसंकट से निपटने के लिए यह जरूरी है कि बारिश के पानी को संग्रहित किया जाये. गौर करने वाली बात यह है कि झारखंड में भूमिगत जल का स्तर भी बहुत अच्छा नहीं है. आंकड़ों के अनुसार यहां सिर्फ 15 ब्लॉक के बलुई इलाके में ही भूगर्भ जल पर्याप्त मात्रा में है. ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि बारिश के पानी को संग्रहित किया जाये.

बजट में पानी पर जोर

बजट में जल संरक्षण और वर्षा जल संचयन के लिए परपंरागत और नवीन उपायों पर जोर देने की बात कही गयी है. जल निकायों के नवीनीकरण, जल के दोबारा इस्तेमाल और ढांचों के पुनर्भरण, जलविभाजन विकास और गहन वनीकरण, पेयजल की सफाई आदि पर सरकार का जोर है....

फोटो - http://v.duta.us/5IJ29QAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/SjkD5QAA

📲 Get Ranchi News on Whatsapp 💬