ट्रेनिंग में महिलाओं को खिलाया गया था दावतों का बासी बचा खाना

  |   Budaunnews

बदायूं। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) में घोटाले की परतें खुलती जा रही है। इसमें लगातार नई-नई बातें निकलकर सामने आ रही हैं। अब जांच टीम के सामने बेहद ही चौंकाने वाली बात सामने आई है। पता चला है कि महिलाओं को ट्रेनिंग के दौरान बासी खाना दिया गया था। यह खाना उसी होटल में हुई दावतों का बचा हुआ होता था, जिसमें उन्हें ठहराया जाता था। ऐसा करते वक्त यह भी नहीं देखा गया कि उसमें मीट के टुकड़े मिल गए थे। इन टुकड़ों को देखकर ज्यादातर ने खाना नहीं खाया और भूखे पेट ही रात गुजारी।

विकास भवन स्थित एनआरएलएम कार्यालय में हुए घोटाले की चल रही जांच में अब बासी खाने की बात सामने आई है। इस योजना में शासन से समूह को चलाने के लिए धनराशि दिए जाने के अलावा महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाती है। ट्रेनिंग के दौरान महिलाओं को सुबह को नाश्ता व खाना भी दिया जाता है। साथ ही महिलाओं को रात में रुकने की बेहतर व्यवस्था की जाती है। लेकिन बदायूं में तैनात जिला, ब्लॉक मिशन प्रबंधकों द्वारा आपसी सांठगांठ कर ट्रेनिंग के नाम पर लंबा चौड़ा बिल पास कराया जाता रहा, जबकि महिलाओं को वहां पर सुविधा के नाम पर कुछ भी नहीं दिया जाता था। जब सीडीओ ने इस मामले में गहनता से जांच की तो कई अनियमितताएं सामने आयीं। उन्होंने टीमों को भेजकर महिलाओं के बयान दर्ज कराए तो पता चला कि महिलाओं को ट्रेनिंग के दौरान दावतों का बचा हुआ बासी खाना दिया जाता था। कुछ महिलाओं ने एतराज जताया तो उन्हें डरा धमकाकर शांत कर दिया जाता था। बता दें कि जिस होटल में महिलाओं को रोककर ट्रेनिंग दी गई थी, वहां आए दिन विवाह कार्यक्रमों का आयोजन होता है। बताते हैं कि यहीं से बचा खाना रात में एकत्र कर महिलाओं को अगले दिन दे दिया जाता था।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/bb9XKAAA

📲 Get Budaun News on Whatsapp 💬