पूरे देश में जनसंख्या वृद्धि दर में आयी गिरावट, बिहार में नहीं बदले हालात, आबादी के कारण सामने हैं ये चुनौतियां...

  |   Patnanews

वर्ष 2018-19 की आर्थिक समीक्षा में यह बात सामने आयी है कि पिछले दो दशकों में भारत की जनसंख्या वृद्धि दर में गिरावट देखी गयी है. बावजूद इसके बिहार एक ऐसा राज्य है जहां अभी भी जनसंख्या वृद्धि दर ऊंचे स्तर पर है. बिहार के बाद नाम आता है उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा का. समीक्षा में यह कहा गया है कि जनसंख्या के स्वरूप और जनसंख्या वृद्धि के रुझानों को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि देश में राज्य स्तर पर इनमें विभिन्नता दिखेगी. जिन राज्यों में जनसंख्या का स्वरूप तेजी से बदल रहा है वहां जनसंख्या वृद्धि दर 2031-41 तक लगभग शून्य हो जाएगी. जिन राज्यों में जनसंख्या संरचना बदलाव धीमा है वहां भी 2021-41 तक जनसंख्या वृद्धि दर में काफी गिरावट दिखेगी. कुल गर्भधारण दर में लगातार कमी के बावजूद बिहार की जनसंख्या में वृद्धि देशभर में सबसे ज्यादा होगी. 2001 में गर्भधारण दर 4.4 था, जिसमें 2011 में गिरावट दर्ज की गयी और यह 3.6 के लेवल तक पहुंच गया. जबकि 2016 में यह 3.3 2021 में 2.5, 2031 में 2.0 और 2041 में 1.8 पर पहुंच जायेगा....

फोटो - http://v.duta.us/V4tdqwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/pSpWyQAA

📲 Get Patna News on Whatsapp 💬