रांची के इस आश्रम में एक बूंद पानी भी नहीं जाता नाले में

  |   Jharkhandnews

रांची के मोरहाबादी इलाके में स्थित रामकृष्ण मिशन आश्रम जल संरक्षण के क्षेत्र में एक मिसाल है. यह आश्रम 23 एकड़ में फैला हुआ है, जहां बच्चों की शिक्षा के साथ-साथ खेती- किसानी का भी पाठ पढ़ाया जाता है. भारी मात्रा में सब्जी व फल की खेती भी की जाती है. लेकिन सबसे गौर करने वाली बात यह है कि इतने बड़े भू-भाग में फैले होने के बावजूद यहां एक बूंद पानी नाले में नहीं जाता, बल्कि एक-एक बूंद पानी को संरक्षित किया जाता है.

पाइपलाइन से कुएं में गिरता है बारिश का पानी

दरअसल आश्रम के विशाल भू-भाग में एक दर्जन से अधिक कार्यालय व छात्रावास हैं. इन सभी भवनों पर गिरने वाले बारिश के पानी को इंटरकनेक्टेड पाइपलाइन के जरिये कुएं में लाकर गिरा दिया जाता है. ऐसे में जब भी बारिश होती है, यह कुआं रिचार्ज होते रहता है. कुएं में वाटर लेबल बने रहने के कारण पास के बोरवेल में पानी का स्तर कभी नीचे नहीं जाता. आश्रम परिसर में यह भी दिखाया गया है कि किस तरह ग्रामीण क्षेत्रों के लोग पहाड़ से रिसने वाले पानी को स्टोर कर रखते हैं....

फोटो - http://v.duta.us/4wOhZQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/L6tDCAAA

📲 Get Jharkhand News on Whatsapp 💬