सामूहिक प्रयासों से 2 साल में हरी-भरी हो गई हाथीपावा की बंजर पहाड़ी

  |   Jhabuanews

झाबुआ. मंगलवार को शहर के प्रमुख पर्यटनस्थल हाथीपावा की पहाड़ी पर सुबह 7 से 10 बजे तक पर्यावरण क्रांति दिवस मनाया जाएगा। जल्दी उठिए और आइए, हाथीपावा की पहाड़ी आपका इंतजार कर रही है। इसे हराभरा करने के लिए पौधे लगाकर पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाइए। बच्चों को भी साथ में जरूर लाएं ताकि वे समझ सकें कि प्रकृति की सुंदरता निखारने के साथ ही हमारे लिए पौधों की कितनी अहमियत है।

दो साल पहले तक हाथीपावा की पहाड़ी पूरी तरह बंजर थी। पौधों के नाम पर यहां महज कुछ झाडिय़ां थी। हाथीपावा का मतलब लोग आगे के हिस्से में नजर आने वाली पहाड़ी और वहां नजर आने वाले चार मंदिरों को समझते थे। किसी ने पीछे का हिस्सा देखा तक नहीं था। 2017 में यहां सामूहिक प्रयासों के जरिए 20 हेक्टेयर क्षेत्र में एक साथ 10 हजार पौधे लगाए गए। नतीजा ये हुआ कि ये पहाड़ी हरीभरी हो गई। आज इनमें से 80 प्रतिशत पौधे जिंदा हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/-u41dwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/2eYCQwAA

📲 Get Jhabua News on Whatsapp 💬