20 करोड़ रुपये लेकर भाग थी कल्पतरू कंपनी, मालिक के वारंट जारी

  |   Budaunnews

बदायूं। छह करोड़ डकारने वाली कल्पवट से कल्पतरू कंपनी चार कदम आगे रही। कंपनी ने करीब 10-15 लोगों के 20 करोड़ रुपये हड़प लिए और कल्पवट से पहले भाग गई। इसके लिए कंपनी ने चार हजार एजेंट बनाए थे। उनके माध्यम से 10-15 हजार लोगों को ठगा गया। इस संबंध में कंपनी मालिक जयकिशन सिंह राणा के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी। तब से लेकर पुलिस कंपनी मालिक की तलाश है। हालांकि अभी उसका कुछ पता नहीं चला है लेकिन न्यायालय से उसके वारंट जारी हो गए हैं।

20 मई 2018 को जालंधरी सराय निवासी डॉ. मोहम्मद अहमद ने कल्पतरू कंपनी के मालिक जयकिशन सिंह राणा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। उनका कहना था कि 25 फरवरी 2018 को उन्होंने कल्पतरू विल्टेक कॉरपोरेशन लिमिटेट कंपनी में अपनी पॉलिसी कराई थी। जिस पर कंपनी ने बाद में उन्हें खुद एजेंट बना दिया। इससे डॉ. मोहम्मद अहमद ने लोगों को जोड़ना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे उन्होंने राजवीर शर्मा, अर्जुन सिंह, सतीश कुमार सिंह, राजेश, उमेश पाल सिंह, नवी आलम, मोहम्मद हनीफ, मोहम्मद आरिफ समेत दर्जनों लोगों की कंपनी में पॉलिसी कराई। उस समय कंपनी का ऑफिस दातागंज तिराहे के पास हरियाली किसान बाजार के सामने था। इसके मेनेजिंग डायरेक्टर जयकिशन सिंह राणा खुद थे। जयकिशन सिंह राणा ने कंपनी विभाजन करते हुए केबीसीएल इंडिया लिमिटेड, कल्पतरू ब्यूडटेक कंपनी लिमिटेड, कल्पतरू मोटेल्स लिमिटेड आदि नई कंपनियां बना दीं। उस दौरान एजेंटों की कंपनी मालिक से कई बार बात हुई थी। हर बार जयकिशन सिंह राणा ने उन्हें भरोसा दिलाया। इससे लोगों की आरडी, एफडी की, लेकिन कुछ समय बाद कंपनी लोगों के 30 करोड़ रुपये लेकर भाग गई।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Z6qxxwAA

📲 Get Budaun News on Whatsapp 💬