आदिवासी समुदाय में राखी बांधने के साथ डालेंगें पूर्वजों को पान व श्राद्ध

  |   Khargonenews

ऊन (खरगोन). भाई बहन के रिश्ते का यह अटूट रक्षासूत्र बांधने का पर्व राखी निमाड़ अंचल में पूर्णिमा से लेकर जन्माष्टमी तथा पोला की अमावस तक मनाया जाता है। इसी के चलते क्षेत्र में रक्षा बंधन तथा आदिवासी नवई पर्व को लेकर रविवार को स्थानीय हाट बाजार में अच्छी खासी भीड़ रही। खासतौर पर किराना, सब्जी, होटलों व सौंदर्य प्रसाधन, कटलरी के साथ राखी की दुकानों पर खासी भीड़ रही। जनजाति समुदाय की महिलाएं व युवतियोंं ने चूड़ी-झुमकों के साथ अन्य शृंगार सामग्री खरीदी। 23 अगस्त की शाम को आदिवासी समुदाय के लोग अपने घरों में त्योहार बनाकर बहन बेटियों को भोजन कराने के साथ समुदाय द्वारा पान अर्थात श्राद्ध डालने के रिवाज भी पूरे किए जाएंगे। वहीं जन्माष्टमी के साथ राखी बांधी जाएगी। इसी दिन नवई के साथ अपने पूर्वजों को श्राद्ध समर्पित करेंगे। इधर समुदाय की बहनें अपने भाइयों की कलाइयों पर रक्षासूत्र बांधकर रक्षा करने का वचन लेंगी।...

फोटो - http://v.duta.us/I043xwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1QGzCgAA

📲 Get Khargone News on Whatsapp 💬