एम्स में मरीजों के लिए तीन घंटे तक सांस लेना भी रहा मुहाल, सड़क पार करने के लिए देने पड़े 80 रुपये

  |   Delhi-Ncrnews

यूपी के बरेली से आए मोहम्मद आरिफ कई माह से फेफड़ों की परेशानी से ग्रस्त हैं। वहां डॉक्टरों ने उन्हें फेफड़ों में कैंसर होने की जानकारी दी। इसीलिए वे दिल्ली एम्स में इलाज के लिए आए थे। शनिवार को आग की जानकारी मिलने के बाद वे अन्य मरीजों के साथ आपाताकालीन विभाग के बाहर निकल आए। बाहर बारिश आने के कारण उन्हें स्ट्रेचर पर रहना पड़ा। चलने में परेशानी होने और आसपास दूसरा कोई इंतजाम न होने के कारण वे बारिश में ही लेटे रहे।

ऐसा ही हाल मुरादाबाद से रेफर होकर इलाज कराने आए 35 वर्षीय कपिल भटनागर का है। वे दिल और किडनी के मरीज हैं। शनिवार को वे एम्स के आपातकालीन विभाग पहुंचे। यहां उनके साथ मौजूद परिजन तीन घंटे तक लाइन में खड़े होकर उनके भर्ती होने का इंतजार करते रहे। कुछ ही देर में उनका नंबर आने वाला था कि तभी पास के टीचिंग ब्लॉक सें आग की लपटें खिड़की से बाहर आते देख हड़कंप मच गया।...

फोटो - http://v.duta.us/ZhQbWwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/vxSPDgAA

📲 Get Delhi NCR News on Whatsapp 💬