एसडीएम ने क्या आदेश जारी कर दिया

  |   Ujjainnews

उन्हेल. जिनके नाम संपत्ति है और वे स्वर्ग सिधार गए हैं तो उनके नामांतरण समय सीमा में ही किए जाएंगे। शासन की योजनाओं लाभ परिवार को मिले इसी को लेकर फौती नामांतरण के लिए नागदा एसडीएम ने एक प्रोग्राम बनाया है। इसमें पटवारी व पंचायत सचिव को जवाबदारी दी है। निगरानी तहसीलदार करेंगे। प्रेाग्राम में लापरवाही मिली तो संबंधित के खिलाफ नोटिस देकर कार्रवाई की जाएगी। नागदा एसडीएम आरपी वर्मा ने 13 अगस्त को बैठक की। इसमें नागदा-उन्हेल क्षेत्र के अंतर्गत 453 फौती नामांतरण शेष पाए जाने पर निराकरण हेतु 6 विषय पर कार्यक्रम तैयार किया। इसे समय सीमा में पूरा करना है। पटवारियों को 20 अगस्त तक प्रकरण पोर्टल पर दर्ज करना है। रीडर द्वारा प्रथम ऑर्डर शीट विद्यापति तथा प्रथम सूचना पत्र 25 अगस्त तक जनरेट करवाना है। तहसीलदार लॉगइन से अनुश्रण कर नामांतरण आवेदन प्रकरणों में आदेश 15 सितंबर तक यदि कोई आपत्ति नहीं है तो जारी करना है। कम्प्यूटर रिकॉर्ड में अमल कर प्रकरण में खसरा नकल की 22 सितंबर को संशोधित नकल लगाना है। तहसीलदार ने सभी पटवारियों से नामांतरण अमल से कोई शेष नहीं होने का प्रमाण-पत्र प्राप्त कर एसडीएम को 23 सितंबर तहसीलदार का एक्साई प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करेंगे। पटवारी द्वारा खातेदारों की भू-ऋण पुस्तिका प्राप्त करके 28 सितंबर तक उसे संशोधित करके खातेदार को वापस करना है।...

फोटो - http://v.duta.us/nQe4agAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Kl9d7gAA

📲 Get Ujjain News on Whatsapp 💬