गलघोंटू का प्रकोप, मवेशियों की हो रही मौत

  |   Chhatarpurnews

छतरपुर. बारिश के मौसम पशुओं को गलघोंटू बीमारी का खतरा बढ़ गया है। राजनगर तहसील इलाके के कई गांवों में गलघोंटू बीमारी से पालूत मवेशियों की जान जा रही है। ग्रामीण इलाके में पशु औषाधालय समय से और रोजाना नहीं खुलने से टीकाकरण नहीं हो रहा है, जिससे पशुआ की मौत हो रही है। विशेषज्ञों के मुताबिक पशुओं को गलघोंटू बीमारी का टीका लगवाना जरूरी है, क्योंकि इस बीमारी की चपेट में आने के बाद 80 प्रतिशत से अधिक जानवरों की मौत हो जाती है, बहुत कम जानवर इस बीमारी से लड़कर बच पाते हैं।

इन गांवों में ज्यादा परेशानी: राजनगर तहसील इलाके के झमटुली, श्यामरा, बरद्वाहा, सलैया, कावर, करौंदया, सीलोन, गंगवाहा, रमपुरा आदि गांव में पिछले 15 दिन से पालतु मवेशियों में गलघोंटू की बीमारी फैली हुई है। हर रोज किसी न किसी ग्रामीण का पालतू जानवर दम तोड़ रहा है। कित्तू पाल ने बताया कि भैंस के बछड़ा को पहले बुखार आया और फिर खाना पीना छोड़ दिया और उसके बाद उसने दम तोड़ दिया। शंकर पाल ने बताया कि, झमटुली में पशु औषधालय नहीं खुलने से टीकाकरण नहीं हो पाया, जिससे जानवर मर गए।...

फोटो - http://v.duta.us/Hwsj0AAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/_Eg4LwAA

📲 Get Chhatarpur News on Whatsapp 💬