गेहलौर महोत्सव : मंत्री ने कहा, गेहलौर में कर्म व कृति की होती है पूजा

  |   Gayanews

पर्वत पुरुष दशरथ मांझी को दी गयी श्रद्धांजलि, जुटे हजारों लोग

खिजरसराय (गया) : बिहार सांस्कृतिक विरासत की राजधानी रही है. बौद्ध धर्म के अनुनायी को बोधगया, जैन धर्म के लोगों को पावापुरी, अकलियतों को मनेर शरीफ जाकर ज्ञान की प्राप्ति होती है. पूरे विश्व को गया में मोक्ष प्राप्त होता है.

वहीं कर्म और कृति की पूजा गेहलौर में होती है. उक्त बातें पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने गेहलौर में शनिवार को दशरथ मांझी महोत्सव (गेहलौर महोत्सव) के उद्घाटन के मौके पर कहीं. कार्यक्रम का उद्घाटन पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने संयुक्त रूप से किया....

फोटो - http://v.duta.us/9i5DpgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/oDfbmAAA

📲 Get Gaya News on Whatsapp 💬