चली तो खूब पर अपेक्षाओं पर नहीं उतरी खरी

  |   Kotanews

कोटा. रोजाना औसतन 36 हजार लोग बड़ी उम्मीदों के साथ बाहर से चमचमाती देख आकर्षण में ऑटो व अन्य साधन छोड़ इनमें सवार तो हो जाते हैं, लेकिन कुछ ही क्षणों में उन्हें निराशा होने लगती है। वजह भी कोई पहाड़ सी नहीं, छोटी-छोटी हैं। नगर निगम से जुड़े जनप्रतिनिधि आगामी चुनाव की तैयारियों में व्यस्त हैं और सिटी बस कंपनी को शायद फुर्सत नहीं। इस बीच शहरी यातायात में अपनी पैठ बना लेने वाली सिटी बसों में अब कैसे हैं हाल, इसे लेकर पत्रिका ने 'रियलिटी चैकÓ किया तो कई गंभीर चीजें सामने आई। ऐसा लगा कि यहां भी 'ऑपरेशन गरिमाÓ की जरूरत है।...

फोटो - http://v.duta.us/VvfrawAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/KuzIhAAA

📲 Get Kota News on Whatsapp 💬