छत्तीसगढ़ में केवल दो मंत्रियों के बंगलों में आसमान से बरस रही दौलत को सहेजने का इंतजाम

  |   Raipurnews

रायपुर. बढ़ते वैश्विक तापमान और सामने खड़े जल संकट से निपटने के लिए बरसाती पानी का संरक्षण सबसे आसान और टिकाउ उपाय है। हर साल राÓय और केंद्र सरकारें लोगों को यह बताने में करोड़ों रुपए फूंक रही हैं। शहरों में मकानों के लिए रेन वॉटर हार्वेस्टिंग उपाय अनिवार्य किए जाने की कवायद चल रही है। लेकिन इनके बीच सरकारें कितनी गंभीर हैं, इसका अंदाजा सरकारी इमारतों में इसके प्रयोग को लेकर देखा जा सकता है। पत्रिका ने शनिवार को राÓय मंत्रिमंडल के सदस्यों के सरकारी बंगलों में इसकी पड़ताल की। सामने आया है, सिविल लाइंस और शंकर नगर के पॉश इलाके में कई एकड़ में फैले इन बंगलों में से दो-तीन को छोड़कर किसी परिसर में बरसात के पानी को सहेजने को इंतजाम नहीं है।...

फोटो - http://v.duta.us/S777TwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/X-s5yQAA

📲 Get Raipurnews on Whatsapp 💬