दंपती की अर्थी उठी तो रो पड़ा गांव

  |   Kushinagarnews

दंपती की अर्थी उठी तो रो पड़ा गांव

पकड़ियार बाजार। हादसे में दंपती की मौत से पूरा गांव गमगीन था। एक साथ जब दंपती की अर्थी गांव से निकली तो कोहराम मच गया। हर आंखे नम थी,वहीं परिजनों का रो- रो कर बुरा हाल था।

रामकोला क्षेत्र के सिंगहा निवासी अशोक तिवारी परिवार समेत बंगलूरू में निजी कंपनी में ठेकेदारी करते थे। वहीं से शिरडी से दर्शन कर अपनी कार से वापस लौट रहे थे। सोमवार की भोर में कोल्हापुर के पास एक ट्रक में पीछे से उनकी गाड़ी घुस गई थी। जिसमें अशोक व उनकी पत्नी गंभीर रुप से घायल हो गए थे। घटना स्थल पर अशोक की मौत हो गई थीं, लेकिन पत्नी मधु कोमा में थीं,बाद में इलाज के दौरान उनकी भी मौत हो गई। जबकि साथ रहे मासूम दो बेटे बाल-बाल बच गए थे। पोस्टमार्टम के बाद जब दंपती का शव गांव पहुंचा तो कोहराम मच गया। पनियहवा घाट पर जब एक साथ दंपती की चिता जली तो सभी की आंखें भर आईं। मां-बाप को मासूम बेटों ने मुखाग्नि दी। लोगों ने बताया कि अशोक तिवारी तीन भाइयों में सबसे छोटे थे। घर की सभी जिम्मेदारी उन्हीं के कंधे पर थी। परिवार के वह इकलौते कमाऊ सदस्य थे। उनके मासूम बेटों के परवरिश की चिंता सभी को सता रही थी।

फोटो - http://v.duta.us/PB9cdQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/4gJJqwAA

📲 Get Kushinagar News on Whatsapp 💬